झामुमो की नीति का भंडाफोड़ करने अाैर जमशेदपुर से चंपई को हराने के लिए लड़ रहा चुनाव : बेसरा - bulldogsmonthly.com

Breaking

Friday, April 5, 2019

झामुमो की नीति का भंडाफोड़ करने अाैर जमशेदपुर से चंपई को हराने के लिए लड़ रहा चुनाव : बेसरा

झामुमो की नीति का भंडाफोड़ करने अाैर जमशेदपुर से चंपई को हराने के लिए लड़ रहा चुनाव : बेसरा
झामुमो की नीति का भंडाफोड़ करने अाैर जमशेदपुर से चंपई को हराने के लिए लड़ रहा चुनाव : बेसराझारखंड पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष अाैर जनमत के मुख्य संयाेजक सूर्य सिंह बेसरा ने झामुमाे पर गंभीर अाराेप लगाए...झारखंड पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष अाैर जनमत के मुख्य संयाेजक सूर्य सिंह बेसरा ने झामुमाे पर गंभीर अाराेप लगाए हैं। उन्हाेंने कहा झामुमो की पैसा बनाअाे नीति का भंडाफोड़ करने अाैर जमशेदपुर से झामुमो प्रत्याशी चंपई सोरेन को हराने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। एेसी ताकताें काे राेकने के लिए जनता के विचाराें पर अाधारित संगठन "जनमत' बनाया है। इसके बैनर तले समान विचारधाराअाें वाले संगठन अाैर प्रत्याशियाें काे चुनाव मैदान में उतारा जा रहा है। वे जमशेदपुर सीट से चुनाव लड़ेंगे। बेसरा ने शुक्रवार काे कहा-मैं झामुमाे की झारखंड विराेधी नीतियाें के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ रहा हूं। सिंहभूम सीट अादिवासियाें के लिए सुरक्षित है। चंपई साेरेन काे सिंहभूम से चुनाव लड़ना चाहिए था, लेकिन पैसों के लिए उस सीट पर सौदा कर लिया गया।
बेसरा ने कहा : झारखंड विराेधी नीतियाें के खिलाफ लड़ रहा हूं
किसके खाते में कितनी सीटें
1. झारखंड पीपुल्स पार्टी : 4 सीटें
जमशेदपुर से सूर्य सिंह बेसरा, दुमका से सतीश सोरेन, चतरा अाैर हजारीबाग से अभी घाेषणा नहीं।
2. झामुमो (उलगुलान): 4 सीटें
सिंहभूम से कृष्णा मार्डी, गिरिडीह, गढ़वा अाैर राजमहल से प्रत्याशी की घाेषणा अभी नहीं।
3. राष्ट्रीय सेंगेल पार्टी: 2 सीटें
खूंटी से पुष्पा टेटे, लोहरदगा से घाेषणा अभी नहीं।
4. बहुजन मुक्ति पार्टी : 2 सीटें
धनबाद अाैर गोड्डा से घाेषणा अभी नहीं।
5. आदिवासी मूलवासी जनाधिकार मंच : 1 सीट
रांची से राजू महतो,
6. भाकपा (माले) : 1 सीट कोडरमा को समर्थन
अांदाेलन बेचने वालाें काे मिलेगी सजा
बेसरा ने कहा कि 1985 में झारखंड मुक्ति मोर्चा के बैनर तले घाटशिला से चुनाव लड़ा। मतगणना में धांधली के कारण 1201 वोट से हार गए थे। 1986 में ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन की स्थापना की। 1990 में घाटशिला से आजसू के टिकट पर चुनाव लड़ा और झामुमो, भाजपा, कांग्रेस को 25 हजार वोटों से हराकर विधायक बने। मैंने आदिवासियों के हित के लिए बिहार विधानसभा में अलग राज्य झारखंड की मांग की थी, लेकिन झामुमो ने अांदाेलन काे बेच दिया। झामुमाे के 19 विधायक तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद से जा मिले और झारखंड के विभाजन की मांग दबा दी गई। झामुमाे के रवैये के कारण 1991 में विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था।
‘जनमत’ का मकसद तीसरा विकल्प देना
बेसरा ने जनमत संगठन बनाने की वजह बताई। कहा- जनमत बनाने का उद्देश्य है झारखंड नव निर्माण के लिए महासभा तैयार करना। झारखंड की राजनीति में जनता के विचाराें पर तीसरा विकल्प तैयार करना, जाे कांग्रेस, भाजपा, झामुमाे जैसे दलाें से ऊब चुकी जनता काे सशक्त मंच दे सके। जनमत का गठन झारखंड पीपुल्स पार्टी, झारखंड मुक्ति मोर्चा(उलगुलान), राष्ट्रीय सेंगेल पार्टी, बहुजन मुक्ति पार्टी, आदिवासी मूलवासी जनाधिकार मंच पार्टी और सीपीआई एमएल के साथ मिलकर हुअा है। झारखंड की 14 लोकसभा सीटों का बंटवारा इन संगठनाें के बीच किया गया है।

1 comment:

Pages